Chocolate Frog Discovered, a cute little species in New Guinea

आपको Harry Potter के चॉकलेट फ्रॉग्स याद है ? अच्छा chocolate manufacturing companies के चॉकलेट frogs तो देखे ही होंगे। बस कुछ ऐसे ही दिखने वाले फ्रॉगस डिस्कवर हुए है। यह स्पीशीज ऑस्ट्रेलियन साइंटिस्ट्स की एक टीम ने new जिनि के lowland में डिस्कवर की है।
ये फ्रॉगस मशहूर ग्रीन कलर के ट्री फ्रॉगस की ही जीनस से है। ये दोनों मेंढक बिल्कुल एक से दिखते है, सिवाय इनके रंग के । एक का रंग चटकीला हरा है , जबकि दूसरे का भूरा। यह खोज और इन से जुड़ी रिसर्च ऑस्ट्रेलियन जर्नल ऑफ जूलॉजी में पब्लिश हुई है।
इस पेपर के अनुसार, इसकी खोज उन्होंने 2016 में कर ली थी और इनका मानना है कि ये chocholate फ्रॉगस न्यू जिनि में अच्छे तादाद में मौजूद होंगे।
इनका नाम रखा गया है , Litoria mira । इस स्टडी के को ऑथर , पॉल ओलिवर , ने बताया कि इसका नाम मिरा इनकी टीम ने रखा है , जिसका लैटिन भाषा में मतलब surprised या अजीब होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि वे आश्चर्य में थे कि ऑस्ट्रेलिया में जाने माने हरे रंग के कॉमन ट्री फ्रॉग के इस रिश्तेदार पर न्यू जिनि में कैसे किसी ने भी ध्यान नही दिया ।
इस स्टडी के को ऑथर स्टीव रिचर्ड्स का कहना है कि ये मेंढक बहुत ही गर्म, दलदली जगहों पर रहते है।
यहां काटें है, हर तरफ कीचड़ है और मलेरिया फैलाने वाले मच्छर है। यहाँ बाढ़ का खतरा भी रहता है और बहुत ज़्यादा सड़के भी नही है।
ऐसी जगहें मगरमच्छों का भी गढ़ होती है , जिसकी वजह से अधिकतर लोग इतने छोटे जीवो का एक्सप्लोरेशन करने नही आना चाहते।
हमने इस divergence का पता लगाने की कोशिश की। Pilocene पीरियड में यानी, 5.3 टू 2.6 मिलियन इयर्स अगो, ऑस्ट्रेलिया की समतल, tropical भूमि और new जिनि कनेक्टेड थी।
पेड़ो पर रहने वाले हरे रंग के मेंढक यानी Litoria caerulea , northern ऑस्ट्रेलिया और eastern new जिनि में पाए जाते है।
ये खतरा भाप कर ढेर सारी म्यूकस रिलीज़ करते है, जिससे इंसान को भले ही ज़्यादा खतरा न हो ,लेकिन इससे डॉग्स बीमार हो सकते है। और अन्य मेंढकों की तरह ये चीखने की आव्वाज़ें निकालते है।
ये मुलतः ऑस्ट्रलिया से ही है और अमेरिका व न्यू ज़ीलैंड में इनकी introduced स्पीशीज है।
IUCN द्वारा इनका conservation स्टेटस लेस्स concerned बताया गया है।
इसे White’s ट्री फ्रॉग भी कहा जाता है ,क्योंकि 1790 में जॉन वाइट ने इन्हें पहली बार describe किया था।

जेनेटिक analysis में पता चला कि , भले ही ये बाहर से identical दिखते हो , लेकिन Litoria mira, new जिनि में इस तरह evolve हुई कि , इन दोनों स्पीशीज में ब्रीडिंग संभव नही है। और यह पता लगाने का ज़िम्मा था Queensland Museum एंड Griffith यूनिवर्सिटी के पॉल ओलिवर का ।
कुछ फिजिकल डिफरेंसेस भी है। chocholate फ्रॉग की आंखों के पीछे lavender के सूक्ष्म पैचेज़ है। ये ऑस्ट्रेलियन ग्रीन फ्रॉग से थोडे छोटे है। पूरी तरह से mature होने पर ये मेंढक 7 से 8 cm के हो जाते है। जबकि ग्रीन फ्रॉग्स 10 cm से भी ज़्यादा के हो सकते है।
इससे पहले इन्होंने australia में भी कुछ फ्रॉग स्पीशीज और new जिनि में 200 नई मेंढकों की प्रजातियों की खोज की है।
लेकिन क्या ऐसा नही हो सकता कि ये कोको फ्रॉग्स australia में भी पहले से मौजूद हो। शायद नही। इस स्टडी के ऑथर्स मानते है कि ऐसा होने की संभावना बहुत कम या नही के बराबर है , क्योंकि ये सिर्फ न्यू जिनि के rainforests में इन दलदल भरी , समतल जगहों पर ही पाए जाते है। और ये ज़्यादा ट्रेवल भी नही करते।
इस नई खोज ने ऑस्ट्रेलिया और न्यू जिनि के कनेक्शन पर चर्चा नए सिरे से शुरू कर दी है। लाखो साल पहले ये दोनों एक ही लैंड मा्स थे ।
न्यू जिनि में rainforests है जबकि northern ऑस्ट्रेलिया में ज़्यादातर सावान्ना लैंड है। लेकिन लेट tertiary पीरियड में ऐसा नही था । आज से 2.6 मिलियन सालों पहले तक ये दोनों जगहें ज़मीन द्वारा जुड़ी हुई थी।
अगर इनके बायोटिक इंटरचेंज के बारे में और पता लगाया जाए , तो इससे ये समझने में आसानी होगी कि ये रेनफोरेस्ट और सवान्ना लैंड , किस तरह से ज़्यादा या कम हुए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *